अहमदाबाद में शुरू होने वाली मेट्रो का खूबसूरत नजारा,मेट्रो प्रोजेक्ट के फेज-1 का शुभारंभ 30 सितंबर को! यह खूबसूरत नजारा आपका भी मन मोह लेगा

अहमदाबाद में शुरू होने वाली मेट्रो का खूबसूरत नजारा,मेट्रो प्रोजेक्ट के फेज-1 का शुभारंभ 30 सितंबर को! यह खूबसूरत नजारा आपका भी मन मोह लेगा

मेट्रो का नजारा देखकर बढ़ जाएगा यात्रा करने का उत्साह
अहमदाबाद में पिछले कुछ समय से मेट्रो ट्रेन का प्रोजेक्ट शुरू किया गया है। अहमदाबाद मेट्रो प्रोजेक्ट का फेज-1 30 सितंबर को लॉन्च किया जाएगा। राज्य में रहने वाले अधिकांश लोगों ने अभी तक मेट्रो टेन में यात्रा करने का अनुभव नहीं किया है। फिर अहमदाबाद से शुरू होने वाली इस मेट्रो का ये नजारा देखेंगे तो आपका जल्द ही इसमें सफर करने का मन करेगा।
अहमदाबाद में पहले चरण में वस्त्रल से अपैरल पार्क तक साढ़े छह किलोमीटर की दूरी पर मेट्रो चलाई जानी है। सभी मेट्रो स्टेशनों को मेट्रो ट्रेनों के 6 डिब्बों की क्षमता के आधार पर डिजाइन किया गया है। मेट्रो ट्रेन के फीचर्स की बात करें तो मेट्रो की कुल यात्री क्षमता 800 है। 3 डिब्बों वाली एक ट्रेन की लंबाई 67.32 मीटर है। जबकि ट्रेन की औसत गति 34 किमी है। हालांकि, ट्रेन की अधिकतम गति 90 किलोमीटर प्रति घंटा है।
एक के बाद एक ट्रेन के समय की बात करें तो पीक आवर्स में हर 1.75 मिनट पर एक ट्रेन चलेगी। भीड़ कम होने पर हर 15 मिनट में एक ट्रेन चलेगी। प्रत्येक स्टेशन पर 30 सेकेंड का ठहराव होगा। इसके साथ ही ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर में 7 किमी का अंडरग्राउंड रूट होगा। जबकि अहमदाबाद मेट्रो ट्रेन के कुल 34 स्टेशन होंगे।
खास बात यह है कि अहमदाबाद वासियों को मेट्रो ट्रेन के शुरू होने का बेसब्री से इंतजार है। साथ ही जो लोग मेट्रो ट्रेन से यात्रा करना चाहते हैं। उनकी एक खूबसूरत मजेदार तस्वीर सामने आई है। इसे देखकर आप भी देखेंगे कि आपके मन में मेट्रो ट्रेन से यात्रा करने का उत्साह दुगना हो जाता है। मेट्रो का नजारा दिल दहला देने वाला होता है। मेट्रो ट्रेन दिखने में जितनी आकर्षक लगती है। इसकी समान विशेषताएं हैं।
मेट्रो ट्रेनों की विशेषताएं
दुनिया की सबसे उन्नत तकनीक पर आधारित ट्रेनें JOA 3 यानी ग्रेड ऑफ ऑटोमेशन पर चलेंगी। जिसके मुताबिक ट्रेन में कोई ड्राइवर नहीं होगा. लेकिन आपात स्थिति के लिए ट्रेन में एक स्टाफ सदस्य मौजूद रहेगा। ट्रेन की पूरी बॉडी स्टेनलेस स्टील से बनी है। बिजली गुल होने की स्थिति में इस ट्रेन में लाइट, एसी, वेंटिलेशन के लिए एक घंटे तक का बैटरी बैकअप भी मिलेगा। इसके साथ ही इस ऑटोमेटिक ट्रेन में इमरजेंसी एयर ब्रेक की भी सुविधा है। ताकि ट्रेन के पहिए फिसले या फिसले नहीं।ताकि ट्रेन के पहिए फिसले या फिसले नहीं। इतना ही नहीं इस ट्रेन का डिजाइन इस तरह से बनाया गया है कि दुर्घटना होने पर यह कम क्षतिग्रस्त हो जाए।

  • COVID-19
     GUJARAT
    DETECTED: 595K
    DEATHS:7,508
  • COVID-19
     GUJARAT
    DETECTED: 539K
    DEATHS: 6,830
  • COVID-19
     GUJARAT
    DETECTED: 496K
    DEATHS: 6,328
  • COVID-19
     GUJARAT
    DETECTED: 428K
    DEATHS: 5,615
  • COVID-19
     GUJARAT
    DETECTED: 394K
    DEATHS: 5,267
  • COVID-19
     GUJARAT
    DETECTED:322K
    DEATHS: 4,581
  • COVID-19
     GUJARAT
    DETECTED: 294K
    DEATHS: 4,473
  • COVID-19
     GUJARAT
    DETECTED: 239 K
    DEATHS: 4,262
  • COVID-19
     INDIA
    DETECTED: 10.1M
    DEATHS: 147 K
  • COVID-19
     GLOBAL
    DETECTED: 79.8 M
    DEATHS: 1.75 M